बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • भारत ने इंग्लैंड को रौंदा, सीरीज हुई मुट्ठी में, 5 विकेट से रांची टेस्ट मैच जीता
  • भारत ने इंग्लैंड को रौंदा, सीरीज हुई मुट्ठी में, 5 विकेट से रांची टेस्ट मैच जीता

  • तेजस्वी की जनविश्वास यात्रा में दिखा चोरों का तांडव, पुलिस की सुरक्षा घेरा के बीच राजद कार्यकर्ताओं के बाइक ले उड़े बदमाश
  • तेजस्वी की जनविश्वास यात्रा में दिखा चोरों का तांडव, पुलिस की सुरक्षा घेरा के बीच राजद कार्यकर्ताओं के

  • बिहार की जनता पीएम मोदी को दिखाएगी ठेंगा, जनविश्वास यात्रा के दौरान तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री के बिहार दौरे पर साधा निशाना, कहा- फिर आ रहे हैं जुमलेबाजी करने
  • बिहार की जनता पीएम मोदी को दिखाएगी ठेंगा, जनविश्वास यात्रा के दौरान तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री के बिहार

  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य में बदलाव के मिल रहे संकेत
  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य

  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक ने फाड़ा, गुस्साए जदयू महासचिव ने तेजस्वी को बता दी ये हकीकत
  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक

  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी के आभूषण बरामद
  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी

  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की हालत गंभीर
  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की

  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए ऑनलाइन एग्जाम देने, नियोजित शिक्षक दिल के दर्द को ऐसे कर रहे बयां
  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए

  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित शिक्षकों को  नहीं मिलेगा प्रवेश
  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित

  • BIG BREAKING : कैमूर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार स्कॉर्पियो और कंटेनर के बीच हुई जोरदार टक्कर, 9 लोगों की हुई मौत
  • BIG BREAKING : कैमूर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार स्कॉर्पियो और कंटेनर के बीच हुई जोरदार टक्कर,

जनप्रतिनिधि और प्रशासन से भरोसा टूटा : सात साल से हर बारिश में खुद चचरी पुल बनाते हैं ग्रामीण, अधिकारियों के पास मांग की सुनवाई के लिए समय नहीं

जनप्रतिनिधि और प्रशासन से भरोसा टूटा : सात साल से हर बारिश में खुद चचरी पुल बनाते हैं ग्रामीण, अधिकारियों के पास मांग की सुनवाई के लिए समय नहीं

KISHANGANJ : सरकार और प्रशासन ने ग्रामीणों की पीड़ा नहीं सुनी तो टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत चिल्हनियां पंचायत स्थित आमबाड़ी के  लोगों ने खुद ही आमबाड़ी के निकट प्रधानमंत्री सड़क के कटिंग पर चचरी पुल निर्माण करने का निर्णय ले लिया।शनिवार को स्थानीय ग्रामीणों ने श्रमदान और आपस में चंदा इकट्ठा कर आवागमन हेतु चचरी पुल बना डाला। इस पुल से होकर अब लोग आने जाने लगे हैं। 

उक्त पंचायत के सामाजिक सोच रखने वाले युवाओं एवं ग्रामीणों की इस पहल से आमजनों में खुशी व्याप्त है।चिल्हनियां पंचायत के वार्ड नंबर 10 के वार्ड सदस्य सुशील कुमार ने बताया  स्थानीय ग्रामीणों ने सामूहिक चंदा इकठ्ठा कर एवं श्रमदान देकर आमबाड़ी कटिंग पर चचरी पुल का निर्माण कर उक्त कटिंग पर डाल दिया है।अब इस होकर आवागमन हो रहा है।यहाँ चचरी नहीं रहने से 05 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ती थी। ग्रामीणों ने बताया यहाँ चचरी पुल नहीं रहने से  रहमतपुर, धाधर,बेणुगढ़  कुचहा होकर टेढ़ागाछ मुख्यालय जाना पड़ता था।अब इस होकर आवागमन चालू हो जाने से लोगों को राहत मिली है।

इससे पूर्व सुहिया नया हाट के निकट प्रथानमंत्री सड़क के कटिंग पर भी ग्रामीणों ने ही चंदा देकर एवं श्रमदान देकर चचरी पुल का निर्माण किया है। स्थानीय प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के संवेदनहीनता के कारण अब ग्रामीणों को प्रधानमंत्री सड़क के कटिंग पर भी खुद के चंदो व श्रमदान से ही चचरी पुल बनाना पड़ रहा है।आत्म निर्भर होकर खुद आने-जाने का रास्ता यहां के ग्रामीणों ने बना लिया है। 

ग्रामीणों ने बताया वे यहाँ आरसीसी पुल निर्माण की मांग काफी लंबे समय से करते आ रहे हैं,लेकिन ग्रामीणों की पीड़ा से किसी को सरोकार नहीं है।ज्ञात हो कि रेतुआ नदी में  पानी बढ़ने से यहाँ काफी दिक्कत होती है। यहां आरसीसी पुल की जरूरत है। स्थानीय विधायक जी यहां से वादा करके गए थे कि चुनाव जीतेंगे तो यहां पुल का निर्माण जरूर करेंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।