बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार की अपनी गलती, कहा- गलती हो गई...
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार की अपनी गलती, कहा- गलती हो गई...

  • भारत ने इंग्लैंड को रौंदा, सीरीज हुई मुट्ठी में, 5 विकेट से रांची टेस्ट मैच जीता
  • भारत ने इंग्लैंड को रौंदा, सीरीज हुई मुट्ठी में, 5 विकेट से रांची टेस्ट मैच जीता

  • तेजस्वी की जनविश्वास यात्रा में दिखा चोरों का तांडव, पुलिस की सुरक्षा घेरा के बीच राजद कार्यकर्ताओं के बाइक ले उड़े बदमाश
  • तेजस्वी की जनविश्वास यात्रा में दिखा चोरों का तांडव, पुलिस की सुरक्षा घेरा के बीच राजद कार्यकर्ताओं के

  • बिहार की जनता पीएम मोदी को दिखाएगी ठेंगा, जनविश्वास यात्रा के दौरान तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री के बिहार दौरे पर साधा निशाना, कहा- फिर आ रहे हैं जुमलेबाजी करने
  • बिहार की जनता पीएम मोदी को दिखाएगी ठेंगा, जनविश्वास यात्रा के दौरान तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री के बिहार

  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य में बदलाव के मिल रहे संकेत
  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य

  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक ने फाड़ा, गुस्साए जदयू महासचिव ने तेजस्वी को बता दी ये हकीकत
  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक

  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी के आभूषण बरामद
  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी

  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की हालत गंभीर
  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की

  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए ऑनलाइन एग्जाम देने, नियोजित शिक्षक दिल के दर्द को ऐसे कर रहे बयां
  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए

  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित शिक्षकों को  नहीं मिलेगा प्रवेश
  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित

बिहार में शिक्षक नियुक्ति की आखिरी तारीख खत्म, पास होने के बाद भी इतने हजार सीटों पर अभ्यर्थियों ने नहीं दिया योगदान

बिहार में शिक्षक नियुक्ति की आखिरी तारीख खत्म, पास होने के बाद भी इतने हजार सीटों पर अभ्यर्थियों ने नहीं दिया योगदान

PATNA : बिहार में शिक्षक भर्ती परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद अभ्यर्थियों के ज्वाइनिंग की आखिरी तारीख भी समाप्त हो गई है। जिसमें बीपीएससी द्वारी जारी 1.22 लाख सफल अभ्यर्थियों में से 1.10 लाख अभ्यर्थियों ने शिक्षक की नौकरी के लिए योगदान दे दिया है। वहीं 10 हजार से अधिक अभ्यर्थी ऐसे रहे, जिन्होंने बिहार सरकार की नौकरी को ठुकरा दिया है। ऐसे में जहां पहले से ही 50 हजार से अधिक सीटें खाली रह गई थी, अब यह संख्या 60 हजार के पार हो गई है। जो कि कुल सीटों का एक तिहाई से भी अधिक है।

योगदान करने वाले शिक्षकों को सीएम देंगे नियुक्ति पत्र

सीएम नीतीश कुमार इन सभी शिक्षक को 2 नवंबर को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे। इसके बाद सभी का इंडक्शन ट्रेनिंग शुरू की जाएगी। यह ट्रेनिंग 4 नवंबर से सूबे के 77 शैक्षणिक संस्थानों में दी जायेगी। नवनियुक्त शिक्षक की ट्रेनिंग की मॉनिटरिंग को लेकर सभी डीएम को निर्देश दिया है।

ट्रेनिंग को लेकर जारी किया गया आदेश

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने नवनियुक्त शिक्षक को इंडक्शन ट्रेनिंग को लेकर सभी जिलाधिकारी को निर्देश दिया है। निर्देश में कहा है कि वर्तमान में 23 हजार विद्यालय अध्यापकों का ओरियंटेशन कोर्स कराया जा रहा है। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने इस संबंध में सभी जिलों के डीएम निर्देश देते हुए कहा है सभी जिलों में उप विकास आयुक्त या फिर अनुमंडल पदाधिकारी समय-समय पर इन प्रशिक्षण संस्थानों का निरीक्षण करें

सभी जिलों के डीएम को दी गई जिम्मेदारी

केके पाठक ने सभी डीएम से कहा है कि इंडक्शन ट्रेनिंग में विद्यालय अध्यापकों की जो संख्या बताई जा रही है उसके अनुसार विद्यालय अध्यापक प्रशिक्षण संस्थान में उपस्थित हैं अथवा नहीं, दूसरा यह कि कितने विद्यालय अध्यापक प्रशिक्षण से गायब हैं। या इन शैक्षणिक संस्थाओं के कितने टेक्निकल फैकल्टी गायब हैं, इस पर भी नजर रखें। 

तीसरा विद्यालय अध्यापकों को आप या वरीय अधिकारी भी संबोधित करें -और अपने राज्य के शैक्षणिक व्यवस्था के बारे में बताएं। यह आवासीय प्रशिक्षण कई महीनों तक में जिलों में अवस्थित डायट, सीटीई, पीटीईसी संस्थानों में चलेगा। इसलिए इस इंडक्शन ट्रेनिंग का भी आप लगातार मॉनिटर करें। डीएम निर्देश दिया है कि अपने अन्य अधिकारियों से भी इन संस्थाओं का निरीक्षण कराएं।