बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य में बदलाव के मिल रहे संकेत
  • तेजस्वी यादव ने बदला बिहार का व्याकरण, जनविश्वास यात्रा को लेकर राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा- राज्य

  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक ने फाड़ा, गुस्साए जदयू महासचिव ने तेजस्वी को बता दी ये हकीकत
  • बिहार में सदन से सड़क तक सियासत गरमाई, निखिल मंडल के पोस्टर को आधी रात को अज्ञात युवक

  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी के आभूषण बरामद
  • कटिहार पुलिस ने डकैती की योजना बना रहे पांच चोरों का रंगे हाथ दबोचा, हथियार के साथ सोना-चांदी

  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की हालत गंभीर
  • रफ्तार का कहर: नालंदा में अनियंत्रित ऑटो पलटने से आधा दर्जन से अधिक लोग हुए जख्मी, कई की

  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए ऑनलाइन एग्जाम देने, नियोजित शिक्षक दिल के दर्द को ऐसे कर रहे बयां
  • की-बोर्ड-माउस से कभी मास्टर साहेब का पाला पड़ा नहीं , के.के. पाठक का डर ऐसा की पहुंच गए

  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित शिक्षकों को  नहीं मिलेगा प्रवेश
  • नौ जिलों में सक्षमता परीक्षा आज से शुरू, दो पालियों में होगा आयोजन, विलंब से आने पर नियोजित

  • BIG BREAKING : कैमूर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार स्कॉर्पियो और कंटेनर के बीच हुई जोरदार टक्कर, 9 लोगों की हुई मौत
  • BIG BREAKING : कैमूर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार स्कॉर्पियो और कंटेनर के बीच हुई जोरदार टक्कर,

  • गोपालगंज में युवक का शव पुलिस ने झाड़ियों से किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप
  • गोपालगंज में युवक का शव पुलिस ने झाड़ियों से किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप

  • राजकीय मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पूर्णिया का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, सांसद संतोष कुशवाहा बोले-जल्द करेंगे एम्स के निर्माण की मांग
  • राजकीय मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पूर्णिया का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, सांसद संतोष कुशवाहा बोले-जल्द करेंगे एम्स

  • इंडोनेशिया के बाली में दिखा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के जनविश्वास यात्रा का जलवा, राजद नेता लोगों के बीच बांट रहे पम्पलेट
  • इंडोनेशिया के बाली में दिखा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के जनविश्वास यात्रा का जलवा, राजद नेता लोगों के

बिहार के कॉलेज के छात्रों में भी दिखेगा केके पाठक का खौफ, लगातार तीन दिन रहे एब्सेंट तो कट जाएगा नाम

बिहार के कॉलेज के छात्रों में भी दिखेगा केके पाठक का खौफ, लगातार तीन दिन रहे एब्सेंट तो कट जाएगा नाम

PATNA : बिहार के शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों से अनुपस्थित रहनेवाले 19 लाख से ज्यादा शिक्षकों का नामांकन खत्म करने के बाद अब विभाग का ध्यान कॉलेजों पर चला गया है। जिस तरह से स्कूलों में अनुपस्थित रहनेवाले शिक्षकों का नाम काटा गया, अब उसी तरह राज्य के विश्वविद्यालयों की स्नातकोत्तर कक्षाओं और डिग्री कॉलेजों से लगातार तीन दिनों तक बिना पूर्व सूचना के (अनधिकृत रूप से) अनुपस्थित रहने वाले छात्र-छात्राओं का नाम काट दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने सभी विश्वविद्यालयों को इसका सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया है। 

शिक्षा विभाग के ACS केके पाठक के निर्देश पर उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. रेखा कुमारी की ओर से राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों को पत्र भेजा गया है। जिसमें विश्वविद्यालयों को कहा गया है कि बिना वाजिब कारण के कोई विद्यार्थी लगातार तीन दिनों तक कक्षा से अनुपस्थित है, तो उसे नोटिस भेजकर जवाब मांगें। अगर, छात्र या छात्रा द्वारा दिया गया जवाब संतोषजनक नहीं है, तो उसका नाम काट दें। साथ ही उसका पंजीकरण भी रद्द करने की कार्रवाई करें। 

परीक्षा में नहीं  बैठ सकेंगे

कुलसचिवों को लिखे पत्र में यह भी स्पष्ट किया गया है कि किसी विद्यार्थी की कक्षा में उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम रहती है तो उसे परीक्षा का प्रवेशपत्र नहीं दिया जाए। विश्वविद्यालयों के परीक्षा नियंत्रक कुलसचिवों के सहयोग से यह सुनिश्चित करेंगे कि संबंधित विद्यार्थी की उपस्थिति 75 प्रतिशत अथवा उससे अधिक रही है, इसके बाद भी उसका प्रवेशपत्र निर्गत किया जाएगा। अगर, 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति है तो प्रवेशपत्र जारी नहीं जारी होगा। उक्त दोनों आदेशों का दृढ़ता से पालन करने को विश्वविद्यालयों से कहा गया है।

इससे पहले राज्य के सरकारी स्कूलों से लगातार अनुपस्थित रहने वाले 19 लाख बच्चों के नाम पिछले डेढ़ माह में काटे गये हैं। इनमें सबसे अधिक चौथी और पांचवीं के दो-दो लाख से अधिक बच्चे शामिल हैं। पहली के 1.20 लाख, दूसरी के 1.55 लाख और तीसरी के 1.95 लाख बच्चे शामिल हैं। सबसे कम दसवीं के 21 हजार और 12 वीं के 15 हजार विद्यार्थी के नाम काटे गये हैं। शिक्षा विभाग का प्रधानाध्यापकों को निर्देश है कि तीन दिनों तक लगातार अनुपस्थित रहने वाले बच्चों के अभिभावकों को नोटिस दें।

वहीं राज्य शिक्षा शोध एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के शिक्षण प्रशिक्षण के तहत 63.3 फीसदी शिक्षक ही शामिल हुए। प्रशिक्षण में पूरे राज्य से 10858 शिक्षकों को शामिल होना था, 6878 (63.3 फीसदी) ही शामिल हुए। यानि 3980 शिक्षकों ने प्रशिक्षण में शामिल होने में असमर्थता जतायी। इनमें अधिकांश शिक्षकों ने प्रशिक्षण में शामिल नहीं होने की वजह नवरात्रा की पूजा और उपवास में रहना बताया है।