बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • पटना में नवजात शिशुओं के तस्करी में डॉक्टर गिरोह का भंडाफोड़, 4 महिला सहित 10 तस्कर गिरफ्तार
  • पटना में नवजात शिशुओं के तस्करी में डॉक्टर गिरोह का भंडाफोड़, 4 महिला सहित 10 तस्कर गिरफ्तार

  • अपने मायके से ससुराल जाने के लिए निकली महिला की ऑटो में  जाने के दौरा गले से लाखो रुपए के सोने का चेन चोरी
  • अपने मायके से ससुराल जाने के लिए निकली महिला की ऑटो में जाने के दौरा गले से

  • फर्जी डिग्री पर बहाल हुए शिक्षकों की बढ़ेगी मुसीबत, पटना हाई कोर्ट की बिहार सरकार को दो सप्ताह की मोहलत
  • फर्जी डिग्री पर बहाल हुए शिक्षकों की बढ़ेगी मुसीबत, पटना हाई कोर्ट की बिहार सरकार को दो सप्ताह

  • लोकसभा के पूर्व स्पीकर मनोहर जोशी  के निधन पर मुकेश सहनी ने जताया दुख, कहा- भारतीय राजनीति के लिए बड़ी क्षति
  • लोकसभा के पूर्व स्पीकर मनोहर जोशी के निधन पर मुकेश सहनी ने जताया दुख, कहा- भारतीय राजनीति

  • डीएम साहब मेरी शादी करा दीजिए, मर्द होकर ई सब करना पड़ता है.... जिलाधिकारी के जनता दरबार में अजीब फरियाद
  • डीएम साहब मेरी शादी करा दीजिए, मर्द होकर ई सब करना पड़ता है.... जिलाधिकारी के जनता दरबार में

  • मांझी का ऐलान- 40 विधायक जीते तो खत्म होगी शराबबंदी, विधायक हो या एसपी, कलेक्टर हो या जज सब पीते हैं शराब, जिद छोड़ें नीतीश कुमार
  • मांझी का ऐलान- 40 विधायक जीते तो खत्म होगी शराबबंदी, विधायक हो या एसपी, कलेक्टर हो या जज

  • मुजफ्फरपुर में बैखौफ अपराधियों ने पंजाब नेशनल बैंक में की लूट की कोशिश, विरोध करने पर बैंक के गार्ड को मारी गोली, हथियार ले हुए फरार
  • मुजफ्फरपुर में बैखौफ अपराधियों ने पंजाब नेशनल बैंक में की लूट की कोशिश, विरोध करने पर बैंक के

  • लालू की राह पर चल रहे तेजस्वी...अपराधियों के साथ राजद का पुराना रिश्ता, कथित शार्प शूटर की तेजस्वी से मुलाकात पर BJP का प्रहार
  • लालू की राह पर चल रहे तेजस्वी...अपराधियों के साथ राजद का पुराना रिश्ता, कथित शार्प शूटर की तेजस्वी

  • भाजपा के भगावे के बा नू, रउआ लोग के आशीर्वाद बा नू, लड़ाई लडे़ के बा नू.... , बक्सर में भोजपुरी अंदाज में तेजस्वी यादव ने जनता का जीता दिल...
  • भाजपा के भगावे के बा नू, रउआ लोग के आशीर्वाद बा नू, लड़ाई लडे़ के बा नू.... ,

  • पटना हाई कोर्ट : बिहार मानवाधिकार आयोग में रिक्त पदों पर राज्य सरकार को तीन सप्ताह में देना होगा जवाब
  • पटना हाई कोर्ट : बिहार मानवाधिकार आयोग में रिक्त पदों पर राज्य सरकार को तीन सप्ताह में देना

सामाजिक विज्ञान की किताबों में रामायण और महाभारत पढ़ेंगे NCERT के छात्र, गठित समिति ने की सिफारिश

सामाजिक विज्ञान की किताबों में रामायण और महाभारत पढ़ेंगे NCERT के छात्र, गठित समिति ने की सिफारिश

NEW DELHI : NCERT के छात्र जल्द ही सामाजिक विज्ञान की पाठ्यपुस्तकों में रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्यों को पढ़ते हुए नजर आ सकते हैं। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की एक उच्चस्तरीय समिति ने इस बात की सिफारिश की है कि सामाजिक विज्ञान के पाठयक्रम में इन दोनों महाकाव्य को शामिल किया जाए। इसके साथ ही  कक्षाओं की दीवारों पर संविधान की प्रस्तावना लिखी जानी चाहिए। ताकि छात्रों को इसके बारे में अच्छे से जानकारी मिल सके। हालांकि एनसीईआरटी ने अभी तक सिफारिशों पर कोई फैसला नहीं लिया है।

समिति के अध्यक्ष सीआई आईजैक ने समिति ने छात्रों को सामाजिक विज्ञान के पाठ्यक्रम में रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्यों को पढ़ाने पर जोर दिया है। हमारा मानना है कि छात्र किशोरावस्था में अपने आत्मसम्मान, देशभक्ति और अपने राष्ट्र के लिए गौरव का निर्माण करते हैं।' उन्होंने कहा कि हर साल हजारों छात्र देश छोड़कर दूसरे देशों में नागरिकता चाहते हैं क्योंकि उनमें देशभक्ति की कमी है।

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की एक उच्चस्तरीय समिति ने सिफारिश की है कि सामाजिक विज्ञान की पाठ्यपुस्तकों में रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्यों को शामिल किया जाना चाहिए तथा कक्षाओं की दीवारों पर संविधान की प्रस्तावना लिखी जानी चाहिए। यह जानकारी समिति के अध्यक्ष सीआई आईजैक ने दी।

अपनी संस्कृति के प्रति प्रेम विकसित करने की मंशा

आइजैक ने कहा कि 'इसलिए, उनके लिए अपनी जड़ों को समझना और अपने देश तथा अपनी संस्कृति के प्रति प्रेम विकसित करना महत्वपूर्ण है। कुछ बोर्ड पहले से ही रामायण और महाभारत पढ़ाते हैं, लेकिन इसे और अधिक विस्तृत तरीके से किया जाना चाहिए।'

इससे पहले उन्होंने कहा था कि इसी समिति ने पाठ्यपुस्तकों में देश का नाम 'इंडिया' के स्थान पर 'भारत' करने, पाठ्यक्रम में प्राचीन इतिहास के बजाय 'क्लासिकल हिस्ट्री' को शामिल करने और कक्षा तीन से कक्षा 12 तक की पाठ्यपुस्तकों में 'हिंदुओं की जीतों' को रेखांकित करने की भी सिफारिश की थी।

संविधान के प्रस्तावना पर कही यह बात

आइजैक ने कहा कि 'हमारी प्रस्तावना लोकतंत्र और पंथनिरपेक्षता सहित सामाजिक मूल्यों को महत्व देती है. यह महान है. इसलिए, हमने इसे कक्षाओं की दीवारों पर लिखने की सिफारिश की है ताकि हर कोई इसे समझ सके और सीख सके।' 

बता दें कि एनसीईआरटी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के अनुरूप स्कूल पाठ्यक्रम को संशोधित कर रही है। नयी एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकें अगले शैक्षणिक सत्र तक तैयार होने की संभावना है।

इन कक्षाओं के लिए पाठ्यक्रम, पाठ्यपुस्तकों और शिक्षण सामग्री को अंतिम रूप देने के लिए जुलाई में अधिसूचित 19 सदस्यीय राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और शिक्षण अधिगम सामग्री समिति (एनएसटीसी) अब समिति की सिफारिशों पर विचार कर सकती है